जानिए आखिर महाभारत युद्ध के बाद क्या हुआ था !

mahabharat ke rahasya, mahabharat ki kahani, mahabharat yudh ke baad ki kahani, pandav ki mrityu kaise hui, krishna ki mrityu kaise hui, महाभारत के बाद का इतिहास, महाभारत की कहानी, महाभारत कथा, भगवान श्री कृष्ण की मृत्यु, भगवान कृष्ण की मृत्यु कैसे हुई

bhagwan krishna dwara chhal, bhagwan shri krishna story, krishna bhagwan ki mrityu kaise hui, bhagwan shri krishna quotes, krishna dwara chhal, mahabharat ke chhal, kahani mahabharat ki, kahani mahabharat ke chhal, भगवान् कृष्णा के द्वारा छल ,

महाभारत में ज़िदगी से जुड़ सभी सवाल के जवाब मिल जाएंगे। मानव इतिहास में इसे सबसे भीषण युद्ध कहा गया जाता है। 18 दिन तक चले इस युद्ध में उस समय के भारत के करीब 80% पुरुष मारे गए थे।

तभी से हमें यह बताया जा रहा है कि पांडवों ने कौरव सेना को हरा कर अपना अधिकार उनसे प्राप्त कर लिए। मगर कभी शायद किसी ने यह नहीं बताया कि इस धर्मयुद्ध में जीत के बाद पांडवों का क्या हुआ? उन्होंने कितने वर्ष तक राज किया? श्रीकृष्ण का क्या हुआ?

अगर आपको भी इस तरह के तमाम सवालों के जवाब नहीं, मालूम, तो यह रहे इसके जवाब:

1. कुरुक्षेत्र का रण जीतने के बाद, युधिष्ठिर हस्तिनापुर के सिंहासन पर विराजित हुए। मगर शुकाकुल गांधारी ने श्रीकृष्ण को श्राप दिया कि उनके यदुवंश का भी नाश कौरवों की तरह निश्चित ही होगा।

2. पांडवों ने 36 सालों तक हस्तिनापुर पर राज किया। इस दौरान गांधारी के श्राप ने अपना असर दिखाया और द्वारका नगरी में यदुवंशी आपस में ही एक-दूसरे को मारने लगे। इस तरह उनके वंश का पतन शुरु हो गया।