भीष्म ने पहले ही कर दी थी इन 10 बातो की भविष्यवाणी, जो आज हो रही है सच !

bhishma character mahabharata, bhishma ki bhavishya wani, bhishma pitamah in hindi, bhishma pitamah ki bhavishya vani, bhishma pitamah quotes, bhishma pitamah story in hindi, bhishma pitamaha dwara batai gayi bhavishya waniya, bhisma mahabharata, bhisma pitamah teachings, role of bhishma in mahabharata, भीष्म पितामह, भीष्म पितामहा की भविष्यवाणी

भीष्म पितामह की भविष्यवाणी  : –

भीष्म पितामह  शांतुन एवम गंगा के पुत्र थे, ये महाभारत के प्रमुख पात्रो में से एक पात्र थे. भगवान परशुराम के शिष्य भीष्म अपने समय के अत्यधिक बुद्धिमान एवम शक्तिशाली विद्वान थे. महाभारत  ग्रन्थ के अनुसार भीष्म पितामहा वे योद्धा थे जो हर प्रकार के अश्त्र एवम शास्त्रो का काट जानते थे तथा उन्हें युद्ध में हरा पाना नामुमकिन था.

भीष्म पितामह का वास्तविक नाम देवव्रत  था तथा उनकी भीषण प्रतिज्ञा के कारण उनका नाम भीष्म पड़ा था. कहा जाता है की भीष्म पितामाह को इच्छा मृत्यु का वरदान था तथा इसके साथ ही वे भविष्य में होने वाली घटाओ को जान लेते थे.

भीष्म पितामाह ने शरीर त्यागने से पूर्व अर्जुन को अपने पास बुलाकर अनेक ज्ञान के बाते बतलाई थी तथा इसके साथ ही उन्होंने अर्जुन को अन्य ज्ञान देते हुए 10 ऐसी भविष्यवाणियों के बारे में भी बतलाया था जो आज वर्तमान में वास्तव में घटित हो रहा है.

आइये जानते है आखिर कौन सी वे 10 बाते थी जो भीष्म पितामह ने अर्जुन को बतलाई थी. 

भीष्म ने अर्जुन को अपने पास बुलाते हुए 10 महापाप के बारे में बतलाया जो कलयुग में घाटी हो तथा ये वास्तव में वर्तमान में घटित हो रही है. भीष्म ने इन 10  महापापो को तीन श्रेणियों में बाटा था. जिनमे 3 शरीर द्वारा , 3 मन द्वारा तथा 4 वाणी द्वारा.