इस जन्माष्टमी इस प्रकार करे भगवान श्री कृष्ण की पूजा, होगा घर में सुख सम्पति का वास !

shree krishna denge sukh samridhi, ghar me sukh shanti ke upay, sukh samridhi ke upay, krishna leela , story of lord krishna from birth to death, sukh shanti plant, story of lord krishna and radha in hindi, sukh shanti samridhi, सुख शांती समाधान, सुख समृद्धि के उपाय, सुख शांति मंत्र, घर में सुख शांति के लिए उपाय

करे भगवान श्री कृष्ण की पूजा, होगा घर में सुख सम्पति का वास : –

भगवान श्री कृष्ण को भगवान विष्णु का आठवा अवतार कहा गया है, मान्यता है की भगवान श्री कृष्ण जीवन के सभी चक्रो से होकर गुजरे है जैसे जन्म, मृत्यु, शोक, खुशी आदि. यही कारण है की उन्हें पूर्ण अवतार कहा जाता है.

पुराणों के अनुसार भगवान श्री कृष्ण का जन्म भाद्र माह की कृष्ण पक्ष को अष्टमी तिथि को मध्य रात्रि में रोहणी नक्षत्र में हुआ था. धरती में जब जब पाप बढा है भगवान विष्णु ने हर अवतार में इस धरती को पाप मुक्ति किया है तथा धर्म की स्थापना करी है.

जन्माष्टमी :-

भगवान श्री के जन्मदिवस को जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है तथा इस बार भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी 25 अगस्त 2016 को मनाई जाएगी.

भगवान श्री कृष्ण माता देवकी के गर्भ से जन्मे थे तथा बाद में उन्हें सुरक्षा की दृष्टि से उनके पिता वासुदेव ने मथुरा छोड़ दिया. मथुरा में भगवान श्री कृष्ण का जन्म पालन पोषण माया यशोदा एवम नन्द बाबा की देख रेख में हुआ था.

भगवान श्री कृष्ण और दही हांड़ी :-

भगवान श्री कृष्ण बचपन से ही बहुत नटखट एवम शरारती थे. माखन तो उन्हें बहुत प्रिय थी वे गोपियो के घरो से चोरी कर माखन खाते थे. भगवान श्री कृष्ण की इस लीला को पुनः वापस याद करने के लिए दही हांड़ी के खेल को रचा जाता है.