bhagya chamkane ke totke in hindi बगेर पैसे खर्च किये आपका भाग्य बदल सकते हे ज्योतिष के ये 11 उपाय !

bhagya chamkane ke totke in hindi

व्यक्ति के सभी कर्मो का फल ( bhagya chamkane ke totke ) उसके भाग्य से जुड़ा होता है, उसके भाग्य के अनुसार ही उसे फल की प्राप्ति होती है. अच्छे कर्मो पर अच्छे तथा बुरे कर्मो पर वह बुरे फल `की प्राप्ति करता है.

परन्तु ज्योतिष शास्त्र ( bhagya chamkane ke totke ) के कुछ उपायो से मनुष्य अपने जीवन में काफी हद तक परिवर्तन ला सकता है. फिर भी अपने भाग्य को पूरी तरह बदलना तथा अच्छे कर्मो की प्राप्ति ये तो ईश्वर के हाथो में ही है.

आज हम आपके लिए इस पोस्ट में ज्योतिष से सम्बन्धित कुछ ऐसे अचूक उपाय लेकर आये है जो आपकी किस्मत को बदल कर रख सकते है तथा इसके लिए आपको कोई पैसे भी खर्च करने की जरूरत नहीं है.

ये उपाय पूरी तरह तो आपके भाग्य को बदल नहीं सकते परन्तु आपकी समस्या के तुरन्त ( bhagya chamkane ke totke ) निवारण कर सकते है.

धन प्राप्त करें के अचूक उपाय :-

(1) सोमवार को शिव-मंदिर में जाकर दूध मिश्रित जल शिवलिंग पर चढ़ाएं तथा रूद्राक्ष की माला से ‘ऊँ सोमेश्वराय नम:’ का 108 बार जप करें। साथ ही पूर्णिमा को जल में दूध मिला कर चन्द्रमा को अर्ध्य देकर व्यवसाय में उन्नति की प्रार्थना करें, तुरन्त ही असर दिखाई देगा।

(2) यदि बेहद कोशिशों के बाद भी घर में पैसा नहीं रूकता है तो एक छोटा सा उपाय करें। सोमवार या शनिवार को थोड़े से गेहूं में 11 पत्ते तुलसी तथा 2 दाने केसर के डाल कर पिसवा लें। बाद में इस आटे को पूरे आटे में मिला लें। घर में बरकत रहेगी और लक्ष्मी दिन दूना रात चौगुना बढऩे लगेगी।

(3) घर में लक्ष्मी के स्थाई वास के लिए एक लोहे के बर्तन में जल, चीनी, दूध व घी मिला लें। इसे पीपल के पेड़ की छाया के नीचे खड़े होकर पीपल की जड़ में डाले। ( bhagya chamkane ke totke ) इससे घर में लक्ष्मी का स्थाई वास होता है।

(4) घर में सुख-समृद्धि लाने के लिए एक मिट्टी के सुंदर से बर्तन में कुछ सोने-चांदी के सिक्के लाल कपड़े में बांधकर रखें। इसके बाद बर्तन को गेहूं या चावल के भर कर घर के वायव्य (उत्तर-पश्चिम) कोने में रख दें। ऐसा करने से घर में धन का कभी कोई अभाव नहीं रहेगा।

bhagya chamkane ke upay in hindi

रोगों को दूर करने के लिए :-

(1) सूर्य जब मेष राशि में प्रवेश करें तो नीम की नवीन कोपलें, गुड़ व मसूर के साथ पीस कर खाने से व्यक्ति पूरे वर्ष निरोग तथा स्वस्थ रहता है।

(2) यदि व्यक्ति चिड़चिढ़ा हो रहा है तथा बात-बात पर गुस्सा हो रहा है तो उसके ऊपर से राई-मिर्ची उसार कर जला दें। तथा पीडि़त व्यक्ति को उसे देखते रहने के लिए कहें।

(3) सुबह कुल्ला किए बिना पानी, दूध अथवा चाय न पिएं। साथ ही उठते ही सबसे पहले सबसे पहले अपनी दोनों हथेलियों के दर्शन करें। इससे स्वास्थ्य तो सही रहेगा ही, भाग्य भी चमक उठेगा।

(4) यदि किसी के साथ बार-बार दुर्घटना होती हैं तो शुक्ल पक्ष (अमावस्या के तुरंत बाद का पहला) के प्रथम मंगलवार को 400 ग्राम दूध से चावल धोकर बहती नदी अथवा झरने में प्रवाहित करें। यह उपाय लगातार सात मंगलवार करें, दुर्घटना होना बंद हो जाएगा।

bhagya chamkane ka mantra

(5) यदि कोई पुराना रोग ठीक नहीं हो रहा हो तो गोमती चक्र को लेकर एक चांदी की तार में पिरोएं तथा पलंग के सिरहाने बांध दें। रोग जल्दी ही पीछा छोड़ देगा।

(6) कोई असाध्य रोग हो जाए तथा दवाईयां काम करना बंद कर दें तो पीडि़त व्यक्ति के सिरहाने रात को एक तांबे का सिक्का रख दें तथा सुबह इस सिक्के को किसी श्मशान में फेंक दें। दवाईयां असर दिखाना शुरू कर देंगी और रोग जल्दी ही दूर हो जाएगा।

ससुराल में सुखी रहने के लिए :-

(1) साबुत काले उड़द में हरी मेहंदी मिलाकर जिस दिशा में वर-वधू का घर हो, उस और फेंक दें, दोनों के बीच परस्पर प्रेम बढ़ जाएगा और दोनों ही सुखी रहेंगे।