makar sankranti 2017 ki puja vidhi| मकर सक्रांति 2017 की पूजा विधि

makar sankranti 2017 ki puja vidhi, मकर सक्रांति 2017 की पूजा विधि, makar sankranti in hindi essay, makar sankranti in english, makar sankranti festival information in marathi, essay on uttarayan in hindi, makar sankranti essay in marathi, makar sankranti in marathi, makar sankranti essay in english, makar sankranti in marathi wikipedia, संक्रांति के दिन, उत्तरायण दक्षिणायन, मकर संक्रांति पर निबंध, मकर संक्रांति का महत्व, उत्तरायण पर्व, मकर संक्रांति के बारे में

makar sankranti 2017 ki puja vidhi, मकर सक्रांति 2017 की पूजा विधि

सम्पूर्ण भारत में मकर संक्रान्ति विभिन्न रूपों makar sankranti 2017 ki puja vidhi में मनाया जाता है। विभिन्न प्रान्तों में इस त्योहार को मनाने के जितने अधिक रूप प्रचलित हैं उतने किसी अन्य पर्व में नहीं।

हरियाणा और पंजाब में इसे लोहड़ी के रूप में एक दिन पूर्व 13 जनवरी को ही मनाया जाता है। इस दिन अँधेरा होते ही आग जलाकर अग्निदेव की पूजा करते हुए makar sankranti 2017 ki puja vidhi तिल, गुड़, चावल और भुने हुए मक्के की आहुति दी जाती है। इस सामग्री को तिलचौली कहा जाता है। इस अवसर पर लोग मूंगफली, तिल की बनी हुई गजक और रेवड़ियाँ आपस में बाँटकर खुशियाँ मनाते हैं। बहुएँ घर-घर जाकर लोकगीत गाकर लोहड़ी माँगती हैं। नई बहू और नवजात बच्चे के लिये लोहड़ी makar sankranti 2017 ki puja vidhi का विशेष महत्व होता है। इसके साथ पारम्परिक मक्के की रोटी और सरसों के साग का आनन्द भी उठाया जाता है


शेष अगले पेज पर पढ़े…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *