25 मई अवश्य घर के दरवाजे पर बांधे सूत का टुकड़ा, होगी धन वर्षा

25 मई को अमावस्या की रात है हिंदू पंचांग के अनुसार हर माह की तीसरी कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि होती है। उस दिन आकाश में चंद्रमा दिखाई नहीं देता ।रात्रि में सर्वत्र ग्रहण अंधकार छाया रहता है। इस दिन का ज्योतिष एवं तंत्र शास्त्र में अधिक महत्व है।

तंत्र शास्त्र के अनुसार अमावस्या के दिन किए गए उपाय बहुत ही प्रभावशाली होता है। और इसका फल भी अति शीघ्र प्राप्त होता है।