आज है मोहनी एकादशी आज जपे ये एक मन्त्र धन, सौभाग्य, उन्नति की होगी प्राप्ति

भगवान विष्णु जगत के पालनकर्ता करता है यदि वे किसी पर प्रसन्न हो गए तो व्यक्ति को कोई दुःख छू तक नहीं सकता. भगवान विष्णु की एकादशी तिथि में व्रत द्वारा उन्हें प्रस्सन किया जा सकता है.

पुराणों में कहा गया है की एकादशी व्रत के समान को दुसरा व्रत नहीं है. जहा कही भी भागवत का पाठ होता है, भगवान विष्णु को खुश करने के लिए कीर्तन, मन्त्र और नाम सिमरन किया जाता है और जिस जगह पर भगवान का शालिग्राम पत्थर स्थित हो,

वहा पर साक्षात् भगवान विष्णु का वास होता है. आप एकादशी की रात भगवान विष्णु की भक्ति में खो कर जागरण करे.