कल पूनम की रात चावल के सिर्फ 2 दाने, खुद माँ लक्ष्मी आएगी घर

हमारे हिन्दू धर्म में हर वस्तु का अपना कुछ न कुछ महत्व है तथा यहाँ फसलों की बात करि जाए तो चावलों को अधिक महत्वता दी गई है. हर पूजा पाठ, बच्चे के नामकरण, शादी विवाह, या कोई अन्य शुभ कार्य में चावल का उपयोग होता है यहाँ तक की दुःख के कार्यो जैसे अंतिम संस्कार आदि में भी चावल उपयोग में लाये जाते है.

आज हम आपको चावल के कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे है जो आपकी सभी समस्याओ को ख़त्म कर देगी.

किसी भी शुभ मुहूर्त या पूर्णिमा के अवसर पर सुबह जल्दी उठकर नहा-धोकर चावलों को हल्दी या केसर से पीले रंग में रंग लें। ध्यान रखें चावल का कोई भी दाना टूटा हुआ न हो।