मिलेगा कुबेर खजाने का भंडार, सावन पर बस करे ये एक काम

सावन मास में देवाधिदेव महादेव की स्तुति दिन में दो बार की जाती है।

सूर्योदय पर ,फिर सूर्यास्त के बाद। यह माह आशाओं की पूर्ति का समय होता है।

इस महीने में शिव उपासना से मनचाहे फल की प्राप्ति होती है।