आज की रात गलती से भी ना करे ये गलती वरना हमेसा के लिए पछताना पड़ सकता है

सुख, समृद्धि और सौभाग्य के देवता कहे जाने वाले भगवान गणेश के जन्मदिन को गणेश चतुर्थी कहा जाता है।

हिंदू पंचाग के अनुसार यह भाद्रपद माह में शुक्ल पक्ष के दौरान होता है और अंग्रेजी कैंलेडर के अनुसार अगस्त से सिंतबर तक के माह के बीच गणेश चतुर्थी उत्सव मनाया जाता हैं।

12 दिनों तक भगवान गणेश के जन्मदिन का ये उत्सव मनाया जाता है। इन 12 दिनों में लोग अपने घरों में भगवान गणेश की प्रतिमा रखते हैं और सुख समृद्धि की कामना करते हैं।

माना जाता है कि भगवान गणेश की यदि कोई कृपा पाना चाहता है और आप अपनी सारी मनोकामनाएं पूरी करना चाहता है तो इन 12 दिनों में कुछ उपायों द्वारा ये संभव हो सकता है।

आइए जानते हैं गणेश चतुर्थी के ऐसे 5 मंत्र जिनसे आपकी सारी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।

गणेश चतुर्थी में भगवान गणेश का पूजन करके उन्हें लड्डू या संभव हो सके तो मोदक का भोग लगाएं।

इसके बाद ‘ॐ गं गणपतये नम:’ का 21, 51 या 108 माला जाप करें।

अपने जीवन की बाधाओं को दूर करना चाहते हैं तो श्वेतार्क गणपति पर ‘ॐ गं गौं गणपतये विघ्न विनाशिने स्वाहा’ की 21 माला का जाप करें।

ये भी पढ़ें- जानिए एक ऐसी कहानी, जब गणेशजी ने तोड़ा कुबेर का घमंड

कुम्हार के चाक की मिट्टी से अंगूठे के बराबर मूर्ति बनाकर 101 माला से ‘ॐ ह्रीं ग्रीं ह्रीं’ मंत्र का जाप करें।

4. धन प्राप्ति के लिए ‘ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वरवरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।’

मंत्र का जाप करें। ध्यान रहे कि इम मंत्रों के जाप के साथ हवन भी करना है।

कर्ज से बचने के लिए भगवान गणेश के ‘ॐ नमो विघ्नहराय वित्तेश्वराय गं गणपतये नम:’ मंत्र का जाप करें।


loading...
loading...