krishna janmashtami 2018

Krishna Janmashtami 2018 – इस प्रकार करे भगवान श्री कृष्ण की पूजा

Janmashtami 2018

Krishna Janmashtami – भगवान् श्री कृष्ण को समर्पित है. भगवान श्री कृष्ण को भगवान विष्णु का आठवा अवतार कहा गया है, मान्यता है की भगवान श्री कृष्ण जीवन के सभी चक्रो से होकर गुजरे है जैसे जन्म, मृत्यु, शोक, खुशी आदि. यही कारण है की उन्हें पूर्ण अवतार कहा जाता है.

Jamasthami kab hai – Janmasthami 2018 date and time

इस बार  krishna janmashtami  2 September को मनाई जाएगी

krishna jayanthi 2018

पुराणों के अनुसार भगवान shri Krishna का जन्म भाद्र माह की कृष्ण पक्ष को अष्टमी तिथि को मध्य रात्रि में रोहणी नक्षत्र में हुआ था. धरती में जब जब पाप बढा है भगवान विष्णु ने हर अवतार में इस धरती को पाप मुक्ति किया है तथा धर्म की स्थापना करी है.

भगवान श्री के जन्मदिवस को जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है तथा इस बार भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी 25 अगस्त 2016 को मनाई जाएगी.

भगवान श्री कृष्ण माता देवकी के गर्भ से जन्मे थे तथा बाद में उन्हें सुरक्षा की दृष्टि से उनके पिता वासुदेव ने मथुरा छोड़ दिया. मथुरा में भगवान श्री कृष्ण का जन्म पालन पोषण माया यशोदा एवम नन्द बाबा की देख रेख में हुआ था.

krishna janmashtami festival -भगवान श्री कृष्ण और दही हांड़ी :-

भगवान श्री कृष्ण बचपन से ही बहुत नटखट एवम शरारती थे. माखन तो उन्हें बहुत प्रिय थी वे गोपियो के घरो से चोरी कर माखन खाते थे. भगवान श्री कृष्ण की इस लीला को पुनः वापस याद करने के लिए दही हांड़ी के खेल को रचा जाता है.

देश के अनेक भागो में दही हांड़ी के खेल का कार्यक्रम रचा जाता है. हर जगह jamasthami बहुत ही धूमधाम के साथ मनाई जाती है.

भगवान श्री कृष्ण की झाँकिया भी प्रदर्शित की जाती है. तथा इसके साथ ही भगवान श्री कृष्ण को झूला झुलाने की भी परम्परा है.

 krishna janmashtami 2018

How to do Krishna Janmashtami Puja at home

Krishna Janmashtamiपर कैसे करें पूजन-

1- व्रत की पूर्व रात्रि को हल्का भोजन करें और ब्रह्मचर्य का पालन करें.

2- सूर्य, सोम, यम, काल, संधि, भूत, पवन, दिक्‌पति, भूमि, आकाश, खेचर, अमर और ब्रह्मादि को नमस्कार कर पूर्व या उत्तर मुख बैठें.

3- व्रत के दिन सुबह स्नानादि नित्यकर्मों से निवृत्त हो जाएं.

4- इसके बाद जल, फल, कुश और गंध लेकर संकल्प करें:

ममखिलपापप्रशमनपूर्वक सर्वाभीष्ट सिद्धये श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रतमहं करिष्ये.

5- अब शाम के समय काले तिलों के जल से स्नान कर देवकीजी के लिए ‘सूतिकागृह’ नियत करें.

6- इसके बाद भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति अथवा चित्र स्थापित करे यदि भगवान श्री कृष्ण का चित्र माता देवकी के साथ स्तनपान करते हुए हो तथा देवी लक्ष्मी उनके चरण स्पर्श करते हुए हो तो यह और भी उत्तम होता है.

7- इसके पश्चात विधि विधान से पूजा करे, तथा इसके साथ ही इस मन्त्र का उच्चारण करे.

8 – अब पुरे परिवार में प्रसाद अर्पित कर दे.

Lord Krishna Mantra

प्रणमे देव जननी त्वया जातस्तु वामनः. वसुदेवात तथा कृष्णो नमस्तुभ्यं नमो नमः. सुपुत्रार्घ्यं प्रदत्तं में गृहाणेमं नमोऽस्तुते.

krishna janmashtami 2018
janmashtami 2018

Krishna Janmashtami  ke upay

भादौ महीने के कृष्णपक्ष की अष्टमी तिथि की को Krishna Janmashtami का त्यौहार मनाया जाता है. यह त्योहार भगवान श्रीकृष्ण के जन्म उत्सव के रूप में मनाया जाता है. अगर इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को प्रसन्न करने के लिए विशेष उपाय किए जाएं तो हर मनोकामना पूरी हो सकती है.

धर्म ग्रंथों के अनुसार श्रीकृष्ण की पत्नी रुक्मणी देवी लक्ष्मी का अवतार थीं. तो अगर इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को प्रसन्न कर लिया जाए तो मां लक्ष्मी अपने आप ही भक्त पर कृपा बरसा देती है. अगर आप भी माता लक्ष्मी की कृपा पाना चाहते हैं तो जन्माष्टमी के दिन बताए गए ये अचूक उपाय करें .

1 . भगवान श्रीकृष्ण को मथुरा में पीताम्बरी नाम से प्रसिद्ध थे. ऐसा इसलिए था क्योकि वे पिले रंग के वस्त्र धारण करते थे. Krishna Janmashtami के दिन भगवान श्री कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए पिले रंग के वस्त्र, पिले रंग के फल अथवा पिले रंग का अनाज दान करे.

इस दिन स्वयं पिले वस्त्र धारण भी करती सबसे उत्तम माना गया है अतः इस दिन प्रातः स्नान करने के पश्चात पिले वस्त्र धारण कर भगवान श्री कृष्ण का पूजन करे.

2 . प्रातः भगवान श्री कृष्ण की पूजा करते समय उन्हें माखन एवम खीर का भोग लगाए तथा उसमे एक तुलसी का पत्ता भी अवश्य डाले. इस उपाय द्वारा भगवान श्री कृष्ण जल्द प्रसन्न होते है तथा व्यक्ति पर धन की वर्षा होती है.

3 . Krishna Janmashtami के दिन ठीक 12 बजे रात्रि के समय भगवान श्री कृष्ण की प्रतिमा को केसर मिश्रित दूध से नहलाये. इस उपाय द्वारा घर में धन सम्बन्धित सभी समस्या दूर हो जाती है तथा व्यक्ति को अचानक धन प्राप्ति होती है.

4 . यदि आपको बार आर्थिक समस्याओ से गुजरना पड़ रहा है जैसे आपके पास धन आते ही वह टिकता नहीं है तथा किसी न किसी चीज़ पर आपका धन जल्द व्यय हो जाता है तो जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण की पूजा करते समय कुछ रूपये मंदिर में चढादे. तथा कुछ समय के बाद इन रुपयो को अपने जेब में रख ले.

इस उपाय को करने से कभी भी आपको धन सम्बन्धी समस्याओ का सामना नहीं करना पड़ेगा.

5 . यह बहुत ही सिद्ध उपाय है तथा यह शीघ्र प्रभाव में आता है. अतः आइये जानते है भगवान श्री कृष्ण के इस विशेष उपाय को Krishna  Janmashtami के दिन प्रातः जल्दी उठ सर्वप्रथम स्नान करे इसके बाद पिले वस्त्र धारण कर अपने आस पास के किसी मंदिर में जाए तथा भगवान श्री कृष्ण के प्रतिमा के समाने बैठ उन्हें तिलक लगाए.

इसके पश्चात भगवान श्री कृष्ण (lord krishna)के इस विशेष मन्त्र का 108 बार जाप करे.

मंत्र- क्लीं कृष्णाय वासुदेवाय हरि:परमात्मने प्रणत:क्लेशनाशाय गोविंदाय नमो नम:

इसके बाद भगवान श्री कृष्ण को पिले वस्त्र पहनाये तथा साथ ही मक्खन एवम तुलसी अर्पित करे. इस उपाय के द्वारा आप के घर में धन की वर्षा होगी तथा दरिद्रता दूर भागेगी.

6 .इस दिन दक्षिणवर्ती शंख के द्वारा भगवान श्री कृष्ण का जलाभिषेक कराये. इस उपाय से भगवान श्री कृष्ण शीघ्र प्रसन्न होते है तथा धन की वर्षा होती है व् साधक मालामाल हो जाता है.