Lal kitab mantra- लाल किताब का एक सिद्ध उपाय, जाग जायेगी आपकी सोयी किस्मत !

lal kitab ke totke

जाग जायेगी आपकी सोयी किस्मत लाल किताब द्वारा – हमारे हिन्दू धर्म के विद्वान ज्योतिषाचार्यो ने अनेक ऐसी विधाओं की खोज या आविष्कार किया|इन्ही विधाओं में से एक प्रसिद्ध एवं अत्यन्त प्रभावकारी विधा है लाल किताब(lal kitab ke totke). जिनके माध्यम से हम भविष्य को भाप पाने की कोशिश कर सकते है.

लाल किताब के विषय में अक्सर हम और आप सुनते आये है परन्तु क्या आप जानते है की आखिर वास्तव में लाल किताब है क्या ? ये बात बहुत कम ही लोग जानते है.

ज्योतिष तथा हस्त रेखा शास्त्र पर आधरित एक किताब (lal kitab ke totkeजो 19 वि शताब्दी में लिखी गई थी संसार भर में लाल किताब के नाम से विख्यात हुई. यह पूर्णतः सामुद्रिक शास्त्र पर आधरित थी.

लाल किताब में जीवन को सही तरीके से जीने के लिए भी बहुत से तरीके बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर व्यक्ति एक सुखद जीवन जी सकता है.

इसके अलावा लाल किताब(lal kitab ke totke) में धन संबंधी और जीवन की अन्य परेशानियों से मुक्ति दिलवाने के लिए भी उपाय बताए गए हैं जो सप्ताह के हर दिन पर अलग-अलग प्रकार से जुड़े हुए है .

lal kitab ke upay

आज हम आपको लाल किताब(lal kitab ke totke) से जुड़ा धन प्राप्ति और हर समस्या से मुक्ति प्राप्त का एक अचूक मन्त्र बताने जा रहे है जिसका जाप आपको केवल एक हफ्ते निम्न नियम के पालन के साथ करना है .

मन्त्र :-

‘ऊं महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णुपत्न्यै च धीमही तन्नो लक्ष्मी देवी प्रचोदयात’

निम्न मन्त्र का जाप आपको प्रातः 108 बार एक हफ्ते तक करना है.

lal kitab upay in hindi

नियम तथा विधि-lal kitab ke totke

सोमवार :-

सोमवार का दिन भगवान चंद्र को समर्पित होता है. लाल किताब के अनुसार अगर कोई चंद्रमा को प्रसन्न करना चाहता है तो उसे इस दिन खीर खानी चाहिए. अगर किसी की कुंडली में चन्द्र का प्रभाव बहुत कम हो तो उसे इस दिन सफेद वस्त्र धारण करने चाहिए.

मंगलवार :-

हनुमान को समर्पित इस दिन पर गरीबों को मीठी रोटी और मसूर की दाल का दान करना बहुत लाभकारी सिद्ध होता है.

बुधवार :-

यह दिन बुद्धि के देवी को समर्पित होता है, इस दिन भूल से भी मूंग के दाल का सेवन नहीं करना चाहिए. जीन व्यक्तियों को व्यापर में बाधा उतपन्न हो रही इस दिन उन्हें किसी ब्राह्मण को गाय दान करनी चाहिए.

 गुरवार :-

इस दिन ब्राह्मणो को पिले रंग के वस्त्रों का दान करना चाहिए, तथा भोजन में इस दिन कढ़ी चावल लेना चाहिए क्योकि इस दिन काढ़ि चावल का सेवन फायदेमंद होता है.

शुक्रवार :-

यह दिन असुरो के गुरु शुक्र का दिन है, इस दिन प्रातः दही का सेवन अवश्य करे .

शनिवार :-

ज्योतिषाचार्य के अनुसार यह दिन न्याय के देवता शनि देव को समर्पित है, इस दिन घर में कोई भी नई खरीदी वस्तु ना लाये तथा प्रातः शनि देव पर तेल अवश्य चढ़ाए.

रविवार :-

यह दिन भगवान सूर्य देव का कहा जाता है, इस दिन भगवान सूर्य देव को जल अर्पित करे. तथा जो व्यक्ति अपना सौभाग्य चमकाना चाहते है वह इस दिन गुड को नदी में प्रवाहित करे.