Mrityu ke bad-मृत्यु के बाद का रहस्य जाने स्वयं जो वास्तव में मोत के मुह से बहार आये है !

मृत्यु के बारे में सोचना ही शरीर में एक अजीब सी सरीहन ला देता है मृत्यु का बाद जीवन हमेशा एक रहस्य रहा है. अपने बड़े बुजुर्गो से तो हमने अक्सर सूना है की मृत्यु के पश्चात व्यक्ति को उसके कर्मो के अनुसार या तो स्वर्ग मिलता या फिर उसे नरक भोगना पड़ता है.

यदि मनुष्य अपने जीवन में दुसरो को मदद करता है तथा अन्य पुण्यो के कार्य करता है तो उसे स्वर्ग की प्राप्ति होती है तथा जो व्यक्ति निर्दोष प्राणी के साथ अत्याचार करता है व अन्य पाप कर्म करता है तो उसे नरक में जल्लादो के हाथो प्रताड़ित होना पड़ता है.

इस तरह का विश्वास हमने अपने मन बचपन से बनाया हुआ है परन्तु क्या यही हकीकत है या कुछ और ? आज हम आपके समाने उन व्यक्तियों की दास्तान लेकर आये है जो मोत के मुह से बहार आये है तथा उन्होंने वह सब कुछ देखा है जिसकी मनुष्य जीते जी केवल कल्पना ही कर सकता है.

अतः आइये जानते है क्या होता है मृत्यु के पश्चात ….

यह वह क्षण होता है जब व्यक्ति अपने जीवन के अच्छे तथा बुरे क्षणों से एक साथ भारमुक्त हो जाता है. वे दावा करते हैं कि उन्होंने अपनी यादों और गतिविधियों को अपने आँखों के सामने एक वीडियो के रूप में देखा.

अधिकाँश लोग जो मृत्यु की ओर जाकर वापस आए उन्होंने बताया कि जब वे कोमा में थे तब उन्होंने एक प्रकाश देखा. उन्होंने बताया कि इस प्रकाश के साथ प्यार और शांति का एहसास भी था. यह एक तरीका है ताकि मनुष्य नए जीवन को आरामदायक महसूस कर सके.