Na de daridrata ko nimantran- घर में स्थापित मंदिर में भूल से भी न करे ये 8 कार्य, अन्यथा हो सकता है भारी नुक्सान !

घर में स्थापित मंदिर में भूल से भी न करे ये 8 कार्य

सभी के घरों में देवी देवताओ के लिए एक अलग से स्थान होता है, कुछ घरों में छोटे छोटे मंदिर स्थापित होते है. भगवान की पूजा करने से घर में एक सकरात्मक ऊर्जा आती है, कभी-कभी हम जानकारी के आभाव में ऐसे कार्य कर बैठते है जो अशुभ चीज़ो को घर में आमंत्रित करता है.

आज हम आपको कुछ ऐसी चीज़ो के बारे में बताने जा रहे है जो की घर के मंदिर में नहीं की जानी चाहिए.

1 . घर के मंदिर में अक्सर भगवान गणेश की मुर्तिया जरूर होती है, भगवान गणेश प्रथम पूजनीय है तथा उनके बगैर की गई पूजा अधूरी मानी जाती है. पुराणों एवं धर्म ग्रंथो के अनुसार घर के मंदिर में कभी भी गणेश जी की 3 मुर्तिया नहीं रखनी चाहिए. ऐसा करना अशुभ कहलाता है.

2 . आप अपने घर के मंदिर में पूजा करने के लिए शंख तो जरूर रखते होंगे, और यह सही भी है. क्योकि शंख की ध्वनि घर में फैली नकरात्मकता को दूर करके सकरात्मक ऊर्जा का संचार करती है. परन्तु घर के मंदिर में सिर्फ एक ही शंख रखे क्योकि दो या उससे अधिक शंख रखना भी घर में दरिद्रता को निमंत्रण देता है .