When is Bhai Dooj

When is Bhai Dooj-When is Bhai Dooj in 2018 | Bhai Dooj Date & Time

When is Bhai Dooj

विक्रम संवत हिंदू कैलेंडर के कार्तिका महीने के शुक्ला पक्ष में भाई दूज भारत में बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाएगा। भाई दूज त्यौहार दिवाली के पांच दिनों के आखिरी दिन पर मनाया जाता है। वर्ष 2018 के लिए (When is Bhai Dooj) भाई दूज की वर्तमान तिथि 9 नवंबर शुक्रवार है।

When is Bhai Dooj in 2018 | Bhai Dooj Date & Time

Shubh Muhurat for the Bhai Dooj Ceremony

13:10 to 15:27

भाई दूज की शुभ तिथि

दोपहर 1 बजकर 10  मिनट से 3 बजकर 27  मिनट तक रहेगी।

Total Duration for Bhai Dooj Ceremony

2 Hours 17 Mins

जिसका कूल समय 2 घंटे 17  मिनट रहेगा।

Dwitiya Tithi Begins

08th November 2018 at 22:37

द्वितीय तिथि शुरू होगी

8 नवम्बर2018  में 11 बजकर 37 मिनट पर।

Dwitiya Tithi End

09th November 2018 at 22:50

द्वितीय तिथि समाप्त होगी

9 नवम्बर 2018 को 11 बजकर 50  मिनट मध्य रात्रि पर।

What is Bhaiya Dooj?

भाई दूज भाई और बहन के प्रेम की पराकाष्ठा का प्रतीक है। जो रक्षाबंधन की तरह ही मनाया जाता है। भाई दूज हिन्दू धर्म में भाई एवं बहन के आपसी प्रेम का प्रतीक है।

When is Bhai Dooj in india

भाई दूज तिथि 9 नवंबर शुक्रवार है।

Bhaiya Dooj Kyu Manaye Jati Hai

जहाँ एक बहन अपने भाई की लम्बी उम्र एवं खुशाल जीवन के लिए प्रार्थना करती है। भाई भी अपने बहन के हर सुख दुःख में साथ देने का वचन देता है।

Bhai dooj kya hai

भाई दूज एक ऐसा पवित्र बंधन है। हर किसी को आपसी प्रेम की समझ और कैसे किसी भी सम्बंध को पूर्णता दी जाए। भाई दूज भारत के हर राज्य हर क्षेत्र में मनाया जाता है। भाई दूज को को दक्षिण भारत में यम द्वितीय के नाम से भी जाना जाता है।

Why is bhai dooj not celebrated in South India?

भाई दूज दक्षिण भारत में आंध्रा प्रदेश में मनाया जाता है। वहां पर इसे भाई दूज के नाम से नहीं बल्कि भगिनी हस्ता भोजनम” के नाम से पुकारते हैं।यह वहां पर याम द्वितीय को मनाया जाता है। जो कार्तिक मॉस का दूसरा दिन है।

Bhai Dyoj celebration

मान्यता है, जब यमुना के बुलाने पर भाई यम उनके घर पर भोजन आतिथ्य के लिए गए थे। यमुना ने उनकी पूजा कर उनकी लम्बे उम्र की मनोकामना कर उनको भोजन कराया था।उस दिन से यह दिन (When is Bhai Dooj) यम द्वितीय को मनाया जाता है।

When is Bhai Dooj
When is Bhai Dooj

Is Bhau Beej and Bhai Dooj same or different?

भाई दूज एक पवित्र त्यौहार है, जो भारत के हर एक क्षेत्र  में मनाया जाता है। जो हर एक जगह हर एक नाम से नाम से जाना जाता है।देश के उत्तरी क्षेत्र में यह त्यौहार लोकप्रिय रूप से भाई दूज और गुजराती, मराठी और कोंकणी बोलने वाले समुदायों में भाउ भीज के नाम से जाता है।

bhai dooj subh muhurat

उत्सव और अनुष्ठान सभी समुदायों के लिए लगभग समान हैं। भारत के अन्य हिस्सों में इसे टीका और भाई पोंटा और भातृ दित्य भी कहा जाता है।

What are some good gifts to give on Bhai Dooj?

भाई दूज एक प्रेम और शौहार्द्य का प्रतीक है। भारतीय परंपरा के अनुसार (When is Bhai Doojयह एक प्रेम की पराकाष्टा एवम एक दूसरे की रक्षा के लिये निभाया जाने वाला त्यौहार है।आजकल हम इस त्यौहार को लेन देन का त्यौहार बनाते है तो गलत है।

Bhai dooj gift

अच्छी बात है की हम उपहार देते हैं।इस त्यौहार का मुख्या उद्देश्य आपसी प्रेम नहीं bhulna चाहिए।हमे उपहार भी देने चाहिए परन्तु उद्देश्य हीन नहीं होना चाहिए।

Bahi dooj ke uphaar

आप अपनी बहन को आई फोन,आई-पैड,स्मार्टफोन, किंडल या टैबलेट,लैपटॉप,ब्लूटूथ स्पीकर आदि शामिल हैं।अपने प्यारे भाई बहनों को कुछ एथिनिक उपहार भेंट करें।कुछ पश्चिमी उपहार या फिर कुछ अलग प्रकार के वस्त्र उपहार में भेंट करें।

What is the story behind bhai dooj?

भाई दूज एक पवित्र भारतीय त्यौहार है।जो हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।एक बार की बात है, जब यमुना अपने भाई यमराज को भोजन पर बुलाया।यमराज अपने दायित्व निर्वाह के कार्य में व्यस्त होने के बावजूद भी यमराज यमुना के घर पर उपस्थित हुए।

Bhai dooj katha

यमुना ने उनका स्वागत पूजा की थाल से किया था।यमुना ने यमराज को भोजन कराया तथा यमुना ने यमराज जी की लम्बी उम्र की कामना की। इस दिन से यह त्यौहार भाई दूज (When is Bhai Dooj) के नाम से प्रसिद्द हुआ और अभी भी मनाया जा रहा है।